My Blog List

20160711

> चुनौतियों के दंगल में एक सुपरस्टार



 आमिर खान ने बॉलीवुड में गौर करें तो स्पोर्ट्स फिल्मों का सबसे अधिक प्रतिनिधित्व किया है. खास बात यह रही है कि वे फिल्में कामयाब रही हैं. इस बार भी वे रेसलिंग लेकर आ रहे हैं . पेश है अनुप्रिया अनंत की रिपोर्ट

 आमिर खान जब कोई किरदार निभाते हैं, तो वे बतौर एक्टर उस किरदार में खुद को ढालने के लिए शिद्दत से मेहनत करते हैं. यही वजह है कि अगर चुनौती के रूप में उनके सामने कोई स्पोर्ट्स फिल्म भी आये तो वे अपनी उम्र से अधिक मेहनत करने में जुट जाते हैं. नतीजन वे दर्शकों का दिल जीत लेते हैं. आमिर मानते हैं कि बॉलीवुड में स्पोर्ट्स पर बनी फिल्मों को लेकर सोच अलग है.लेकिन फिर भी वे इसे कामयाबी मानते हैं कि उनकी सारी फिल्मों को दर्शकों ने पसंद किया है.
> दंगल
 हाल ही में आमिर खान ने दंगल फिल्म का पोस्टर रिलीज किया है, जिसमें वे चार बेटियों के पिता के रूप में हैं, जो कि सच्ची घटनाओं पर आधारित है. इस फिल्म के पोस्टर में वे जिस अंदाज में नजर आ रहे हैं, उससे साफ है कि उन्होंने किरदार में ढलने के लिए कितनी मेहनत की है. इस फिल्म के लिए तो उन्होंने अपने वजन पर एक ही साल में दो बार काम किया है. यही नहीं उन्होंने अपने बालों के रंग पर भी काम किया है. यह किसी सुपरस्टार के लिए एक बड़ी चुनौती रही होगी कि उन्होंने चार बेटियों के पिता का किरदार निभाने का निर्णय लिया. आमिर खुद मानते हंै कि यह उनके लिए बड़ी चुनौती थी. चूंकि वे फिलवक्त बुजुर्ग के किरदार में नजर नहीं आना चाहते थे. वे अपनी भविष्य की फिल्मों को लेकर चिंतित थे कि कहीं बुजुर्ग का किरदार निभाऊं और फिर उन्हें फिल्में ही न मिले. लेकिन उन्हें कहानी इतनी पसंद आ गयी कि उन्होंने नितेश तिवारी को फौरन फिल्म बनाने के लिए कह दिया. वरना, उन्होंने मन बनाया था कि वे यह फिल्म जब 60 साल के हो जायेंगे तब बनायेंगे.
 लगान
 फिल्म लगान को लेकर भी आमिर के मन में कई उलझने थीं. वे कई बार इन बातों को सोच रहे थे कि न जाने यह फिल्म बन पायेगी या नहीं और जिस तरह से लगान बनने में कई दिक्कतें आयी थीं. आमिर फिल्म को लेकर आश्वस्त नहीं थे. आशुतोष को भी फिल्म को लेकर कई लोगों ने मना कर दिया था. कोई इतनी महंगी फिल्म पर बाजी नहीं खेलना चाहते थे. लेकिन ऐसे में आमिर ने हां कह कर सबको चौका दिया था. सभी ने फिर भी आमिर को राय दी थी कि वह गलत निर्णय ले रहे हैं. इतनी महंगी फिल्म नहीं चलेगी और आज के दौर में कौन क्रिकेट मैच पर बनी फिल्म देखना पसंद करेगा. लेकिन आमिर ने उस वक्त भी हिम्मत जुटायी और फिल्म का निर्माण हुआ. आखिरकार आमिर को कामयाबी मिली. आमिर ने भुवन में किरदार में खुद को बखूबी ढाल लिया और दर्शकों को वे बेहद पसंद आये थे.
 अव्वल नंबर
 आमिर क्रिकेट प्रेमी रहे हैं. शायद यही वजह है कि शुरुआती दौर में भी उन्होंने स्पोर्ट्स पर बनी फिल्म में काम किया था. शुरुआती दौर की उनकी फिल्म अव्वल नंबर देव आनंद के साथ उनकी पहली फिल्म थी. 
 जो जीता वही सिकंदर
 जो जीता वही सिकंदर टीनएज की कहानी थी. इस फिल्म में साइकिलिंग को महत्वपूर्ण तरीके से दर्शाया गया था. फिल्म दर्शकों को खूब पसंद आयी थी. फिल्म में आमिर खान का चुटीला अंदाज भी दर्शकों को बेहद खास लगा था. फिल्म के गाने आज भी दर्शक सुनना और देखना पसंद करते हैं.
 आमिर की बिटिया को भी है फुटबॉल से लगाव
> आमिर की बेटी भी फुटबॉल में काफी दिलचस्पी लेती हैं और हाल ही में उन्होंने सेलिब्रिटीज के साथ फुटबॉल मैच का भी आयोजन किया था, जिसमें कई सेलिब्रिटीज ने शिरकत होकर उनका हौसला भी बढ़ाया 

No comments:

Post a Comment