My Blog List

20160711

शाहरुख़ खान ने ईद के मौके पर खासतौर से मीडिया से बातचीत की. उन्होंने इस मौके पर अपने बचपन की कई यादों को भी शेयर किया. पेश है अनुप्रिया और उर्मिला से हुई बातचीत के मुख्य अंश 

बच्चों को कोई इदी नहीं देता 
शाहरुख़ खान ने बातचीत के दौरान कि अब वह बच्चों को कोई ईदी नहीं देते हैं।  पहले दिया करते थे। खुद उन्हें बचपन में ११ रूपये मिला करते थे।  लेकिन अब न तो उन्हें ईदी मिलती है और न ही वे बच्चों को देते हैं।  वे कहते हैं कि जब वे अपने बच्चों को इस दिन सफ़ेद लिबाज पहनने को बोलते हैं तो बच्चों की चाहत होती है कि वे अपने तरीके के लिबाज पहने।  लेकिन वे अपने पिता का मन रखने के लिए पहन लेते हैं। खासतौर से छोटे बेटे अबराम को सफ़ेद कपड़े बेहद पसंद आते हैं। 

चलो पापा बच्चे आ गए
शाहरुख़ खान ने बताया कि  उनके छोटे बेटे अबराम  को भी उनके फैंस से मिलना बेहद पसंद है।  किसी खास पर्व या जन्मदिन के मौके पर शाहरुख़  अबराम तैयार हो जाते हैं और शाहरुख़ से जाकर कहते हैं कि पापा चलो बच्चा हैज कम।  वे फैंस को बच्चा कह कर बुलाते हैं और वे खुद शाहरुख़ को बार बार हाथ खींच कर बाहर बालकनी तक ले आते हैं।  अबराम  को हर पर्व को एन्जॉय करना पसंद है 

क्या कहते हैं अपने बच्चों को 
शाहरुख़ अपने तीनों बच्चों के बारे में  कहते हैं कि मेरे पास खुदा ने  सुहाना के रूप में एक प्रीटी लेडी दी है।  आर्यन के रूप  में हैंडसम हंक दिया है और अबराम  के रूप में मुझे लिटिल गैंगस्टर दिया है।  मेरी दुनिया उनमें ही सिमटी हुई है 

कुछ इस तरह हो रही है बेटे की तयारी 
शाहरुख़ खान अपने बड़े बेटे को एक्टिंग स्कूल में दाखिला दिलाने जा रहे हैं।  लेकिन उन्होंने साफ़ किया है कि  इसका यह कतई अर्थ नहीं है कि आर्यन एक्टर ही बनेंगे।  कोर्स पूरा करने के बाद यह उनकी मर्जी होगी।  उन्होंने बताया कि  उन्होंने आर्यन के लिए फिल्मों की सूची बना कर उन्हें सौंपी है और कहा है कि  वे वर्ल्ड सिनेमा के साथ साथ भारतीय सिनेमा को भी जरूर देखें।  शोले उन फिल्मों में शामिल है। 

तीनों मिलकर बिरयानी खाएंगे 
शाहरुख़ खान ने बताया कि  पिछले कई सालों से तीनों खान एक दूसरे के घर बिरयानी का आदान प्रदान करते हैं और यह मुमकिन है कि  कभी तीनों खान किसी जगह पर बैठ कर तीनों बिरयानी को मिक्स करके साथ साथ तीनों बिरयानी का मजा लें।  साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि  उन्हें सलमान के घर के पकवान सबसे अधिक पसंद हैं।  चूँकि वहां हर मौके पर बहुत ही स्वादिष्ट पकवान बनते हैं। 

No comments:

Post a Comment